दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Tuesday, June 12, 2007

सोहरावत हउवा ?


लोकप्रिय बिरहा गायक की याद में.

नीचे पढें.

1 comment:

अफ़लातून said...

कबारत हई । लिखलका ओरा गईल ? जोहल जाई ।