दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Thursday, July 5, 2007

श्याम बेनेगल और चार्ली चैप्लिन की पोती

2 comments:

बजार वाला said...

शकल भी देखिए कितनी मिलती है इसकी अपने चार्ली भाई के साथ । लेकिन ये बेनेगल साहब से कब और कैसे मिलने आयीं , इसका ब्योरा आपने नही दिया , देना चाहिऐ था , कम से कम हमे भी जानकारी होती कि ये दोनो मिलकर क्या करने जा रहे हैं।

irfan said...

जी आप ठीक कहते हैं.
27 नवंबर 2005. भारत का 38वां अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव, पणजी, गोआ/ यह एक प्रेस कॉंफ़ेरेंस है. डोलोरेस चैप्लिन इस महोत्सव में विशेष आमंत्रित थीं.