दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Wednesday, December 31, 2008

गंदे गाने: एक श्रृंखला: मोरे संग संग चला...

1 comment:

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

नव वर्ष की बहुत बहुत शुभ कामनाएँ।