दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Monday, March 10, 2008

ख़बरदार...शुरू हो गये हैं दो नये पॉडकास्टर !


आज का बिग्यापोन
अज़दक और ठुमरी ने अब जो शुरू किया है उस पर नज़र डाले बिना तुम्हारी ब्लॉग परिक्रमा पूरी नहीं होती. अत: हे ब्लॉगभक्त आज ही छंटाक भर पँजीरी यहाँ और यहाँ चढाएं.

4 comments:

विकास कुमार said...

हम तो रोज ही हो आते हैं :)

Manisha Pandey said...

अच्छा है.

munish said...

achcha hai chooonki blog vidya ka yahi to optimum use hai. video bhi aane do.

vimal verma said...

आपने तो कुख्यात कर दिया.... हम आपको भी कुख्यात कर के छोड़ेंगे...शुक्रिया