दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Wednesday, July 30, 2008

अमिताभ कुमार से बातचीत की एक झलक

अमिताभ कुमार मशहूर अंग्रेजी लेखक और पत्रकार हैं. हमारे उनके रिश्ते घरेलू और राजनीतिक हैं. कोई बारह साल पहले जनमत के दफ्तर में उनसे लम्बी बातचीत की भाई चंद्रभूषण ने. सुनिए उस बातचीत की एक झलक. अगर इसमें कोई सब्सटांस पाएं तो कहें. फिर मैं पूरी बातचीत जारी करूंगा.

8 comments:

अभय तिवारी said...

हैं.. इस झलक में सब्सटांस हैं.. कह रहा हूँ..पूरी बातचीत जारी की जाय.

vijay gaur/विजय गौड़ said...

यह क्या, कहते-कहते रुक गये जबकि यहां सुनने के लिये ही आये थे हम तो, और आप है कि पूछते हैं - क्या बातचीत जारी रखूं ?

swapandarshi said...

kuchh adhooraa sa hai? poora sunwaaye to baat bane

शोभा said...

आप नए-नए लोगों से मिलवाने का खूबसूरत काम कर रहे हैं। बधाई

महेन said...

लो भई, जहाँ चर्चा में रस आने लगा वहां आपने फ़ुल-स्टाप लगा दिया। पूरा अपलोड कर दीजिये चर्चा को।

मुनीश ( munish ) said...

no comments!

मुनीश ( munish ) said...

Does this gentleman love Mcdonalds' stuff or not? first u declare this and then perhaps everyone will break the silence!
what colour car does he drive will also help !

विजयशंकर चतुर्वेदी said...

पियाला आधा छलक गया.. ज़रा पूरा भरें. वरना तिश्नालबी रह जायेगी. .