दुनिया एक संसार है, और जब तक दुख है तब तक तकलीफ़ है।

Wednesday, July 17, 2013

ये तसर्रुफ़ अल्ला अल्ला...

सैगल साहब

एह ऐ मेरा गीत किसे ना गाणा...

एह ऐ मेरा गीत किसे ना गाणा एह मेरा गीत मैं आपे गाके भलके ही मर जाणा शिव कुमार बटालवी